मंगलवार, 6 नवंबर 2007

roshani ka tyohar

दीवाली आने वाली है...पटाखों, मिठाइयों और लघु संदेशों की बड़ी भरमार है...आइए दीपों का त्योहार मनाएं और शपथ लें कि दिलों में जलन बाकी न रहेगी

3 टिप्‍पणियां:

आशीष कुमार 'अंशु' ने कहा…

वाह-वाह,

दिपावली की अग्रीम शुभकमना

mihir ने कहा…

शुक्रिया बहुत बहुत चंडीदास जी. आप सबका स्वागत है यहाँ. मेरा लिखा कोई इतने चाव से पढ़े तो ख़ुशी तो होगी ही. बहुत अच्छा लगा आपका जवाब देखकर. आते रहें और यूं ही blog पर अपनी राय देते रहें. आपके भी जल्दी कुछ लिखने का इंतज़ार है.

KK Yadav ने कहा…

Swagat hai apka !!
________________________________
गणेश शंकर ‘विद्यार्थी‘ की पुण्य तिथि पर मेरा आलेख ''शब्द सृजन की ओर'' पर पढें - गणेश शंकर ‘विद्यार्थी’ का अद्भुत ‘प्रताप’ , और अपनी राय से अवगत कराएँ !!